प्रेस नोट
छतरपुर पुलिस

*मातगुआं पुलिस ने समाजसेवी बनकर शादी कराने का झांसा देकर भोली भाली लड़कियों को वेश्यावृत्ति कराने के लिए तश्करी कर बेचने बाले गिरोह की मास्टरमाइंड सरगना महिला को किया गिरफ्तार*

गिरोह की मास्टरमाइंड सरगना भोली भाली लड़कियों को अच्छे परिवार के लड़कों से शादी का झांसा देकर वेश्यावृत्ति के लिए अपने गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर बेच देती थी

छतरपुर पुलिस के द्वारा 2 माह पूर्व बच्चियों की तस्करी करने वाले 6 सदस्यों को गिरफ्तार कर गिरोह का किया था भंडाफोड़ तभी से मास्टरमाइंड सरगना महिला चल रही थी फरार

*छतरपुर पुलिस से बचने के लिए गिरोह की सरगना महिला ने हुलिया बदल कर बार-बार बदल रही थी अपने ठिकाने*

दिनांक 30.9.2021 को पीड़िता ने थाना मातगुआ पहुंच कर बताया की उसे ₹80000 में अच्छे परिवार में शादी करवाने का झांसा देकर कोर्ट मैरिज का दिखावा कर संतोष पाल को बेच दिया था फरियादीया की रिपोर्ट पर से थाना मातगुआ पर अपराध क्रमांक 182 /21 धारा 344 366 368 370 370 क 420 34 अनैतिक दुर्व्यापार निवारण अधिनियम 1956 की धारा 5 अनुसूचित जाति जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम की धारा 3(२)5 के तहत पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया था।

प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक महोदय अनिल शर्मा एवं पुलिस उपमहानिरीक्षक श्री विवेक राज सिंह के मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक महोदय श्री सचिन शर्मा के निर्देशानुसार श्रीमान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदय श्री विक्रम सिंह, श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी महोदय बिजावर श्री शशांक जैन के नेतृत्व में थाना प्रभारी मातगुआं सिद्धार्थ शर्मा के द्वारा गठित टीम के द्वारा प्रकरण के 6 आरोपियों को गिरफ्तार कर बच्चियों की तस्करी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था, गिरोह की मास्टरमाइंड मुखिया सुलेखा बर्मन पति अशोक बर्मन निवासी जबलपुर गिरोह के सदस्यों के पकड़े जाने के बाद से फरार चल रही थी जो पुलिस से बचने के लिए जबलपुर और उसके आसपास की जगहों पर अपने ठिकाने बदल रही थी प्रकरण सदर की फरारसुदा मास्टरमाइंड महिला की गिरफ्तारी हेतु श्रीमान पुलिस अधीक्षक महोदय श्री सचिन शर्मा के द्वारा निर्देशित किया गया जिस के पालन में थाना प्रभारी मातगुआं उप निरीक्षक सिद्धार्थ शर्मा के नेतृत्व में गठित टीम सहायक उपनिरीक्षक मनमोहन मार्को आरक्षक अंकित सोनी महिला आरक्षक मंजू पटेरिया महिला आरक्षक ज्योति की टीम के द्वारा गिरोह की मास्टरमाइंड मुखिया सुरेखा बर्मन पति अशोक बर्मन निवासी जबलपुर को को बलदेव बाग जबलपुर से गिरफ्तार किया गया जिसके द्वारा घटना को करना स्वीकार किया गया आरोपिया गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया

*महत्वपूर्ण भूमिका*
बच्चियों की तस्करी करने वाले गिरोह की मास्टरमाइंड मुखिया की गिरफ्तारी में थाना प्रभारी मातगुआं उपनिरीक्षक सिद्धार्थ शर्मा, सहायक उपनिरीक्षक मनमोहन मार्को, प्रधान आरक्षक राममिलन, आरक्षक अंकित सोनी,सतीश यादव, पंकज यादव, कुलदीप, जुबेर महिला आरक्षक संयोगिता नायक, मंजू पटेरिया, ज्योति साइबर सेल से प्रधान आरक्षक किशोर रैकवार, संदीप तोमर, धर्मराज पटेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही